91वाँ भाकृअनुप स्थापना दिवस और पुरस्कार समारोह का हुआ आयोजन

16 जुलाई, 2019, नई दिल्ली

श्री नरेंद्र सिंह तोमर, केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री और अध्यक्ष, भा.कृ.अनु.प. ने कहा कि ‘कृषि-केंद्रित देश होने के नाते किसान हमारे देश की संपत्ति हैं’। श्री तोमर आज राष्ट्रीय कृषि विज्ञान केंद्र परिसर, नई दिल्ली में आयोजित 91वें भाकृअनुप स्थापना दिवस समारोह के दौरान मुख्य अतिथि के तौर पर संबोधित कर रहे थे।

 91st ICAR Foundation Day and Award Ceremony   91st ICAR Foundation Day and Award Ceremony   91st ICAR Foundation Day and Award Ceremony   91st ICAR Foundation Day and Award Ceremony

उन्होंने कहा कि किसान समाज में वास्तविक भूमिका निभाते हैं। साथ ही उन्होंने किसानों को देश की वास्तविक जीवन रेखा कहा। उन्होंने कहा कि कृषि और किसान समुदाय का कल्याण सरकार का सबसे महत्त्वपूर्ण उद्देश्य है। मंत्री ने देश में खाद्य सुरक्षा सुनिश्चित करने में भाकृअनुप की भूमिका की सराहना की।

श्री तोमर ने वर्ष 2022 तक माननीय प्रधान मंत्री के उद्देश्य और किसानों की आय को दोगुना करने के दृष्टिकोण को साकार करने में योगदान देने का आग्रह किया। उन्होंने सरकार की विभिन्न योजनाओं पर प्रकाश डाला जो कृषि और किसान समुदाय के लाभ के लिए लक्षित हैं। उन्होंने कहा कि कृषि समुदाय के सामने आने वाली विभिन्न समस्याओं को अधिक प्रभावी और कुशलता से दूर करने के लिए तकनीकों को विकसित करने में एक सामूहिक दृष्टिकोण होना चाहिए।

 91st ICAR Foundation Day and Award Ceremony   91st ICAR Foundation Day and Award Ceremony

श्री तोमर ने जोर देकर कहा कि अधिक-से-अधिक युवाओं को कृषि को अपने पेशे के रूप में अपनाने के लिए प्रोत्साहित किया जाना चाहिए।

उन्होंने इस अवसर पर “किसान ऐप” को जारी किया। साथ ही, विभिन्न प्रकाशनों का विमोचन भी किया।

श्री पुरुषोत्तम रूपाला, राज्य मंत्री, कृषि एवं किसान कल्याण मंत्रालय; श्री कैलाश चौधरी, राज्य मंत्री, कृषि एवं किसान कल्याण मंत्रालय और श्री बी. डी. शर्मा, संसद सदस्य भी इस अवसर पर उपस्थित थे।

डॉ. त्रिलोचन महापात्र, महानिदेशक (भा.कृ.अनु.प.) एवं सचिव (कृषि अनुसंधान एवं शिक्षा विभाग) ने भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद की हालिया उपलब्धियों पर एक व्यापक प्रस्तुति दी। समझौता ज्ञापनों के रूप में विभिन्न राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय संगठनों के साथ भाकृअनुप के सहयोग के बारे में रेखांकित करते हुए उन्होंने भविष्य के लिए दिशा-निर्देश तैयार करने का आग्रह किया।

इससे पहले श्री बिम्बाधर प्रधान, अतिरिक्त सचिव एवं वित्त सलाहकार (भा.कृ.अनु.प.) ने स्वागत संबोधन में पूरे वर्ष के दौरान कृषि, खेती और संबद्ध विज्ञान के क्षेत्र में किए गए सभी कार्यों और अग्रिमों का एक संक्षिप्त विवरण प्रस्तुत किया।

स्थापना दिवस के इस अवसर पर 22 विभिन्न श्रेणियों के तहत कुल 167 पुरस्कार दिए गए।

 91st ICAR Foundation Day and Award Ceremony

डॉ. ए. के. सिंह, उप महानिदेशक (कृषि विस्तार) ने धन्यवाद प्रस्ताव दिया।

श्री सुशील कुमार, अतिरिक्त सचिव (कृषि अनुसंधान एवं शिक्षा विभाग) एवं सचिव (भा.कृ.अनु.प.); डॉ. जयकृष्ण जेना, उप महानिदेशक (मत्स्य और पशु विज्ञान); डॉ. पंजाब सिंह, पूर्व महानिदेशक, भाकृअनुप और अध्यक्ष, एनएएएस; भाकृअनुप के शासी निकाय के सदस्य, भाकृअनुप मुख्यालय और कृषि एवं किसान कल्याण मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारी; भाकृअनुप संस्थानों के निदेशकों, वैज्ञानिकों और कर्मचारियों सहित कृषि विश्वविद्यालयों के कुलपतियों ने भी इस आयोजन में भाग लिया।

(स्त्रोत: भाकृअनुप-कृषि ज्ञान प्रबंधन निदेशालय, पूसा, नई दिल्ली)