“जलवायु-प्रतिरोधक्षमतापूर्ण अंतर्देशीय मत्स्य पालन" पर राष्ट्रीय अभियान @भारत का अमृत महोत्सव

29 अक्टूबर, 2021, पश्चिम बंगाल

भाकृअनुप-केंद्रीय अंतर्देशीय मत्स्य अनुसंधान संस्थान, बैरकपुर, कोलकाता ने आज मीडिया वेटलैंड, पश्चिम बंगाल में निक्रा परियोजना के तहत "जलवायु-प्रतिरोधक्षमतापूर्ण अंतर्देशीय मत्स्य पालन" पर एक राष्ट्रीय अभियान शुरू किया।

डॉ. बी.के. दास, निदेशक, भाकृअनुप-सीआईएफआरआई, बैरकपुर ने अपने संबोधन में अभियान के मुख्य उद्देश्य के बारे में जानकारी दी।

National Campaign on “Climate-Resilient Inland Fisheries” @Bharat Ka Amrut Mahotsav  National Campaign on “Climate-Resilient Inland Fisheries” @Bharat Ka Amrut Mahotsav

डॉ. यू.के. सरकार, प्रधान अन्वेषक, निक्रा परियोजना एवं विभागाध्यक्ष, आरडब्ल्यूएफडी, भाकृअनुप-सीआईएफआरआई, बैरकपुर ने जलवायु परिवर्तन के प्रभाव को रेखांकित किया साथ ही जलवायु-प्रतिरोधक्षमतापूर्ण अंतर्देशीय मत्स्य पालन की आवश्यकता पर जोर दिया।

इस अवसर पर वैज्ञानिक-मछुआरे-संवाद सत्र के दौरान उन्होंने हितधारकों के सामने आने वाले विभिन्न मुद्दों और चुनौतियों पर भी चर्चा की

भारत की स्वतंत्रता के 75 वर्ष पूरे होने के उपलक्ष्य में "भारत का अमृत महोत्सव" को एक भाग के रूप में आयोजित किया गया इस अभियान में प्राथमिक मछुआरा सहकारी समिति के पदाधिकारियों सहित 30 से अधिक मछुआरों ने भाग लिया।

(स्रोत: भाकृअनुप-केंद्रीय अंतर्देशीय मात्स्यिकी अनुसंधान संस्थान, बैरकपुर, कोलकाता)