सचिव (डेयर) एवं महानिदेशक (भा.कृ.अनु.प.) सहित सभी अधिकारीगण सत्यनिष्ठा प्रतिज्ञा के लिए हुए वचनबद्ध

27 अक्तूबर, 2020

डॉ. त्रिलोचन महापात्र, सचिव (कृषि अनुसंधान एवं शिक्षा विभाग) एवं महानिदेशक (भा.कृ.अनु.प.) ने आज सतर्कता जागरूकता सप्ताह के अंतर्गत भा.कृ.अनु.प. के सभी अधिकारियों को ऑनलाईन सत्यनिष्ठा प्रतिज्ञा दिलवाई। उन्होंने कहा कि एक नागरिक या एक संगठन के तौर पर जागरूक होते हुए हम सबको सत्यनिष्ठा के लिए प्रतिज्ञा लेते हुए वचनबद्ध होना चाहिए। डॉ. महापात्र ने देश की आर्थिक, राजनीतिक तथा सामाजिक प्रगति में भ्रष्टाचार को एक बड़ी बाधा मानते हुए कहा कि भ्रष्टाचार का उन्मूलन करने के लिए सभी संबंधित पक्षों जैसे सरकार, नागरिकों और निजी क्षेत्रों को एक साथ मिलकर कार्य करने की आवश्यकता है। उन्होंने भा.कृ.अनु.प. के पूरे कार्य-प्रणाली में पारदर्शिता बनाने के लिए ज़ोर देते हुए इस संबंध में पिछली उपलब्धियों को रेखांकित किया।

जिन शब्दों और मानकों के साथ सत्यनिष्ठा प्रतिज्ञा लिया गया, वे इस प्रकार है: -

  • जीवन के सभी क्षेत्रों में ईमानदारी तथा कानून के नियमों का पालन करूँगा;
  • ना तो रिश्वत लूँगा और ना ही रिश्वत दूँगा;
  • सभी कार्य ईमानदारी तथा पारदर्शी रीति से करूँगा;
  • जनहित में कार्य करूँगा;
  • अपने निजी आचरण में ईमानदारी दिखाकर उदाहरण प्रस्तुत करूँगा;
  • भ्रष्टाचार की किसी भी घटना की रिपोर्ट उचित एजेंसी को दूँगा।

(स्त्रोत: भा.कृ.अनु.प.-कृषि ज्ञान प्रबंध निदेशालय, नई दिल्ली