"संस्थान का हीरक जयंती वर्ष समारोह एवं किसान मेला" आयोजित

4 जनवरी, 2022, अविकानगर

केंद्रीय कृषि और किसान कल्याण राज्य मंत्री श्री कैलाश चौधरी ने आज भाकृअनुप-केंद्रीय भेड़ एवं ऊन अनुसंधान संस्थान, अविकानगर, राजस्थान द्वारा आयोजित "संस्थान के हीरक जयंती वर्ष समारोह और किसान मेला" का उद्घाटन किया।

“Institute’s Diamond Jubilee Year Celebration and Farmers’ Fair” organized

मंत्री ने अपने संबोधन में 2022 तक किसानों की आय को दोगुना करने के पीएम के दृष्टिकोण को रेखांकित किया। उन्होंने संस्थान और अन्य भाकृअनुप संस्थानों / विश्वविद्यालयों द्वारा विकसित नई और नवीन तकनीकों को अपनाने का भी आग्रह किया। श्री चौधरी ने भेड़ और बकरी पालन की भूमिकाओं को रेखांकित किया, जो विशेष रूप से शुष्क क्षेत्रों में किसानों की सामाजिक-आर्थिक स्थिति के उत्थान के लिए महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकता हैं।

डॉ. भूपेंद्र नाथ त्रिपाठी, उप महानिदेशक (पशु विज्ञान), भाकृअनुप ने भेड़, बकरी और खरगोशों के उत्पादन को बढ़ाने के लिए संस्थान द्वारा किए गए शोध की सराहना की।

डॉ. अरुण कुमार, निदेशक, भाकृअनुप-सीएसडब्ल्यूआरआई, अविकानगर ने हाल के वर्षों में संस्थान की महत्वपूर्ण उपलब्धियों पर प्रकाश डाला, खास कर चमत्कारी भेड़ नस्ल "अविशन" एवं भेड़ के मांस और दूध उत्पाद, ऊन एवं ऊनी मूल्य वर्धित उत्पादों और दूध प्रतिकृति आदि के विकास पर जोर दिया।

इस कार्यक्रम में राज्य के विभिन्न हिस्सों से प्रगतिशील किसानों, महिलाओं, कारीगरों, भेड़ पालकों, कृषि और पशु चिकित्सा छात्रों ने भाग लिया।

(स्रोत: भाकृअनुप-केंद्रीय भेड़ और ऊन अनुसंधान संस्थान, अविकानगर, राजस्थान)