भाकृअनुप-सिबा, चेन्नई में ‘अत्याधुनिक जलीय जलवायु प्रयोगशाला’ का हुआ उद्घाटन

27 अप्रैल, 2021, चेन्नई

डॉ. जॉयकृष्णा जेना, उप महानिदेशक (मत्स्य विज्ञान), भाकृअनुप ने आज आभासी तौर पर भाकृअनुप-केंद्रीय खारा जल जीवपालन संस्थान, चेन्नई में ‘अत्याधुनिक जलीय जलवायु प्रयोगशाला’ का उद्घाटन किया। अपने उद्घाटन संबोधन में उन्होंने जलवायु परिवर्तन के परिदृश्य में खाद्य सुरक्षा के लिए जलीय कृषि के महत्त्व पर जोर दिया। उन्होंने भाकृअनुप-सिबा द्वारा विकसित दो उत्पादों  - भाकृअनुप-सिबा-ऑक्सीप्लस, डिजोल्व ऑक्सीजन एन्हांसर और भाकृअनुप-सिबा-नोडावाक-आर, रिकॉम्बिनेंट वायरल नर्वस नेक्रोसिस वैक्सीन – का विमोचन भी किया।

State-of-the-art "Aqua-Climate Laboratory" at ICAR-CIBA, Chennai inaugurated  27th April, 2021, ChennaiState-of-the-art "Aqua-Climate Laboratory" at ICAR-CIBA, Chennai inaugurated  27th April, 2021, Chennai State-of-the-art "Aqua-Climate Laboratory" at ICAR-CIBA, Chennai inaugurated  27th April, 2021, ChennaiState-of-the-art "Aqua-Climate Laboratory" at ICAR-CIBA, Chennai inaugurated  27th April, 2021, Chennai State-of-the-art "Aqua-Climate Laboratory" at ICAR-CIBA, Chennai inaugurated  27th April, 2021, Chennai

डॉ. सुरेश कुमार चौधरी, उप महानिदेशक (प्राकृतिक संसाधन प्रबंधन), भाकृअनुप ने भी इस आयोजन में आभासी तौर पर भाग लिया।

डॉ. के. के. विजयन, निदेशक, भाकृअनुप-सिबा, चेन्नई ने जलवायु परिवर्तन के महत्त्वपूर्ण क्षेत्र और अंतर्राष्ट्रीय मानक की सुविधा के विकास पर भाकृअनुप-क्रीडा और भाकृअनुप-सिबा की साझेदारी के बारे में प्रकाश डाला।

डॉ. वी. के. सिंह, निदेशक, भाकृअनुप-क्रीडा, हैदराबाद ने निक्रा परियोजना के तहत प्राप्त उपलब्धियों तथा निर्धारित समय के भीतर सुविधा को पूरा करने के लिए संस्थान की सराहना की।

डॉ. एम. मुरलीधर, प्रधान अन्वेषक, निक्रा परियोजना, भाकृअनुप-सिबा ने इससे पहले अपने संबोधन में जलीय जलवायु प्रयोगशाला सुविधा की स्थापना के बारे में विस्तृत जानकारी दी।

प्रयोगशाला में जलकृषि और जलवायु परिवर्तन से संबंधित अनुसंधान के लिए अत्याधुनिक उपकरणों जैसे ग्रीनहाउस गैस एनालाइजर, सीएचएनएस एनालाइजर, कार्बन फ्रैक्शन्स एनालाइजर (टीओसी, आईसी और टीसी), आईओएन क्रोमेटोग्राफ, साइक्लिक वोल्टामीटर, केजेलटेक नाइट्रोजन डाइजेशन और डिस्टीलेशन प्रणाली आदि रखे गए हैं।

(स्रोत: भाकृअनुप-केंद्रीय खारा जल जीवपालन संस्थान, चेन्नई)