भाकृअनुप-एनआईएएनपी ने किया आउटरीच परियोजना की वार्षिक समीक्षा का आयोजन

9 सितंबर, 2019, नई दिल्ली

ICAR-NIANP organizes Annual Review of Outreach Project

भाकृअनुप-राष्ट्रीय पशु पोषण एवं शरीर क्रिया विज्ञान संस्थान, बेंगलुरु ने आज राष्ट्रीय कृषि विज्ञान केंद्र परिसर में विभिन्न आहार प्रणाली के तहत ‘मीथेन उत्सर्जन का अनुमान और शमन कार्यनीतियों के विकास’ पर आउटरीच (बाहरी) परियोजना की वार्षिक समीक्षा का आयोजन किया।

डॉ. जे. के. जेना, उप महानिदेशक (मत्स्य और पशु विज्ञान), भाकृअनुप ने परियोजना की प्रगति की समीक्षा की। डॉ. जेना ने परियोजना के तहत भाग लेने वाले केंद्रों के शोध कार्य की सराहना की। उन्होंने मुख्य केंद्र भाकृअनुप-एनआईएएनपी द्वारा पशुधन से आंत्र (आँत) मीथेन उत्सर्जन पर राज्यवार डेटाबेस विकसित करने के प्रयासों की सराहना की।

डॉ. अशोक कुमार, अतिरिक्त महानिदेशक (पशुपालन), भाकृअनुप ने क्षेत्रीय स्तर पर विकसित प्रौद्योगिकियों के प्रदर्शन करने का आग्रह किया।

डॉ. राघवेंद्र भट्ट, निदेशक, भाकृअनुप-एनआईएएनपी और परियोजना समन्वयक ने परियोजना की उत्पत्ति और इसकी मुख्य उपलब्धियों को रेखांकित किया।

समिति ने मीथेन डेटाबेस को अद्यतन करने तथा विकसित उत्पादों के क्षेत्र मूल्यांकन के साथ-साथ मौसम और क्षेत्र-विशिष्ट अम्लीरेटिव उपायों के विकास के लिए परियोजना को 5 साल तक जारी रखने का प्रस्ताव दिया।

इस अवसर के दौरान वर्ष 2018-19 की वार्षिक रिपोर्ट और परियोजना के अनुसंधान पर प्रकाश डाला गया और इसकी उपलब्धियों को दर्शाती एक विवरणिका जारी की गई।

(स्रोत: भाकृअनुप-राष्ट्रीय पशु पोषण एवं शरीर क्रिया विज्ञान संस्थान, बेंगलुरु)