भाकृअनुप-आईआईएसएस, भोपाल ने किया आरजीपीवी और बरकतुल्लाह विश्वविद्यालय, भोपाल के साथ समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर

भोपाल

भाकृअनुप-भारतीय मृदा विज्ञान संस्थान, भोपाल ने 23 जून, 2019 को बरकतुल्लाह विश्वविद्यालय, भोपाल और 27 जून, 2019 को राजीव गांधी प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, भोपाल के साथ समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किया।

डॉ. अशोक के. पात्रा, निदेशक, भाकृअनुप-आईआईएसएस, भोपाल के साथ डॉ. सुनील कुमार गुप्ता, कुलपति, आरजीपीवी ने आरजीपीवी के ओर से और डॉ. आर. जे. राव, कुलपति, बरकतुल्लाह विश्वविद्यालय, ने बरकतुल्लाह विश्वविद्यालय की ओर से समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किया।

Dr. Ashok K. Patra, Director, ICAR-IISS, Bhopal   The MoU signed between ICAR-IISS and RGPV

भाकृअनुप-आईआईएसएस और आरजीपीवी के बीच समझौता ज्ञापन भाकृअनुप के दिशा-निर्देशों के अनुसार छात्रों के प्रशिक्षण और गुणवत्तापूर्ण स्नातकोत्तर अनुसंधान को बढ़ावा देने हेतु दीर्घकालिक सहयोग के लिए है।

भाकृअनुप-आईआईएसएस और आरजीपीवी ने इस समझौता ज्ञापन के तहत अनुसंधान, शिक्षा, प्रशिक्षण और क्षमता निर्माण, विस्तार परामर्श और राष्ट्रीय हित के कृषि विज्ञान के अन्य क्षेत्रों में सहयोगी कार्यक्रमों के लिए सहमति व्यक्त की है। अनुसंधान और शिक्षण उद्देश्यों के लिए दोनों संस्थानों के संकाय की पारस्परिक मान्यता के लिए भी संगठनों ने सहमति व्यक्त की है। इस पहल के साथ संस्थानों के प्रयोगशालाओं में अनुसंधान, शिक्षण और अन्य गतिविधियों को करने में छात्र और संकाय सक्षम होंगे।

इस अवसर डॉ. पात्रा और डॉ. सुनील कुमार ने कहा कि समझौता ज्ञापन कृषि विज्ञान और प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में उभरते हुए मुद्दों को सुलझाने में दोनों संगठनों की मदद करेगा और किसानों की आय को दोगुना करने के चुनौतीपूर्ण कार्य से निपटने में भी मदद करेगा।

समझौता ज्ञापन की शुरुआती अवधि 3 साल के लिए वैध होगा, जिसे 5 साल तक बढ़ाया जा सकता है।

इस अवसर पर दोनों संगठनों के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

(स्रोत: भाकृअनुप-भारतीय मृदा विज्ञान संस्थान, भोपाल)