भाकृअनुप-अटारी, जबलपुर में किसान प्रथम परियोजना की समीक्षा कार्यशाला का हुआ आयोजन

1 मई, 2019, जबलपुर

भाकृअनुप-कृषि प्रौद्योगिकी अनुप्रयोग अनुसंधान संस्थान, जबलपुर ने आज ज़ेडपीएमसी (ZPMC) के विशेषज्ञों और सदस्यों की उपस्थिति में अपने परिसर में किसान प्रथम परियोजना की समीक्षा कार्यशाला का आयोजन किया।

Review Workshop of Farmers’ FIRST Programme organized at ICAR-ATARI, Jabalpurडॉ. अनुपम मिश्र, निदेशक और अध्यक्ष, ज़ेडपीएमसी (ZPMC) ने कहा कि किसानों की पहली परियोजना परिवार आधारित दृष्टिकोण और नीतिगत हस्तक्षेप के सकारात्मक परिणाम पर आधारित है। उन्होंने आगे जोर देकर कहा कि विपणन गतिविधियों में उचित प्रशिक्षण और मार्गदर्शन के माध्यम से परियोजना की गतिविधियाँ किसानों की आय बढ़ाने में महत्त्वपूर्ण भूमिका निभाएगी।

डॉ. शिव कुमार, प्रमुख वैज्ञानिक, भाकृअनुप-एनआईएपी, नई दिल्ली ने प्रभाव मूल्यांकन के एक आमंत्रित विशेषज्ञ के बतौर चयनित तकनीकी संकेतकों के आधार पर प्रौद्योगिकियों के स्थूल प्रभाव विश्लेषण का आग्रह किया।

डॉ. एस. आर. के. सिंह, प्रमुख वैज्ञानिक और सदस्य सचिव ने इससे पहले प्रतिभागियों का स्वागत किया और आगे की चर्चा के लिए ZPMC से पहले की प्रगति और गतिविधियों की जानकारी दी।  

बैठक के दौरान ज़ेडपीएमसी (ZPMC) विशेषज्ञ डॉ. वाई. वी. सिंह, पूर्व जेडपीडी, जोधपुर; डॉ. ओम गुप्ता, डीईएस, जेएनकेवीवी, जबलपुर; लाइन विभाग प्रतिनिधि श्री के. एस. नेताम, जेडीए, जबलपुर प्रभाग और ईआर एस. के. चौरसिया, कृषि अभियंता, जबलपुर प्रभाग; किसान प्रतिनिधि श्री विवेक महाजन, नरसिंहपुर भी उपस्थित थे।

जेडपीएमसी के सदस्यों ने कार्य योजना 2019-20 में संशोधन के साथ-साथ उनकी प्रगति पर परियोजनावार टिप्पणियों के लिए विचार व्यक्त किए।

बैठक के दौरान कुल 20 प्रतिभागियों ने अपनी भागीदारी दर्ज की।

(स्रोत: भाकृअनुप-कृषि प्रौद्योगिकी अनुप्रयोग अनुसंधान संस्थान, जबलपुर)