केंद्रीय कृषि एवं किसान मंत्री द्वारा करनाल में किसान मेले का उद्घाटन

10 मार्च, 2018, करनाल

केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री श्री राधा मोहन सिंह द्वारा भाकृअनुप-केंद्रीय मृदा लवणता अनुसंधान संस्थान, करनाल के स्वर्ण जयंती के अवसर पर संस्थान परिसर में आयोजित मेले का 10 मार्च को उद्घाटन किया। इस मेले में हरियाणा, पंजाब एवं उत्तर प्रदेश के विभिन्न जिलों के लगभग 3000 किसानों ने भाग लिया। यह मेला संस्थान की स्थापना के 50वें वर्षं की उपलब्धियों को किसानों तक पहुंचाने हेतु आयोजित किया गया था। इस अवसर पर मेले में स्थानीय सांसद श्री अश्विनी चोपड़ा भी उपस्थित थे।

केंद्रीय कृषि एवं किसान मंत्री द्वारा करनाल में किसान मेले का उद्घाटन   केंद्रीय कृषि एवं किसान मंत्री द्वारा करनाल में किसान मेले का उद्घाटन

इस अवसर पर अपने संबोधन में मंत्री महोदय ने कहा कि लगभग 50 वर्ष पूर्व यह पूरा क्षेत्र बंजर था, लेकिन आज संस्थान एवं किसानों के अथक प्रयास से इस क्षेत्र में अच्छी फसलें उगाई जा रही हैं। उन्होंने बताया कि परिषद एवं कृषि विश्वविद्यालयों के बीच सांमजस्य स्थापित कर किसानों के लिये उन्नत कृषि तकनीक विकसित की जा रही है। उन्होंने यह भी कहा कि ’मेरा गांव मेरा गौरव’ कार्यक्रम के अन्तर्गत देश भर में 20,000 कृषि वैज्ञानिक, किसानों के साथ सीधे जुड़कर उनकी समस्याओं का समाधान कर रहे हैं जिससे सन् 2022 तक किसानों की आय दोगुनी करने में मदद मिलेगी। मन्त्री महोदय ने संस्थान द्वारा अपनाए गये 50 गांवों में ’मेरा गांव मेरा गौरव’ कार्यक्रम के कार्यान्वयन की भी सराहना की।

                इससे पहले संस्थान के निदेशक डा. प्रबोध चन्द्र शर्मा ने मुख्य अतिथि तथा अन्य विशिष्टगणों का स्वागत करते हुए संस्थान की उपलब्धियों के बारे में अवगत कराया। उन्होंने कहा कि देशभर में कुल 6.74 मिलियन हैक्टर भूमि लवणीय तथा क्षारीय समस्या से ग्रस्त है। संस्थान ने अब तक 2.14 मिलियन हैक्टर भूमि को सुधार दिया है जिससे देश के खाद्यान्न भण्डार में 16 मिलियन टन अतिरिक्त खाद्यान्न का योगदान होता है। उन्होंने संस्थान द्वारा विकसित अधिक उपज देने वाली धान, गेहूं, सरसों व चना की लवण सहनशील प्रजातियों के बारे में विस्तार से जानकारी दी।

मेले में 21 प्रगतिशील किसान पुरस्कृत किये गये तथा विभिन्न श्रेणी के 4 स्टॉलों को भी पुरस्कृत किया गया। मेले में भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद की शासी निकाय के सदस्य श्री सुरेश चन्देल एवं श्री के.के. सहारिया, डा. जे. जेना, उपमहानिदेशक (मत्स्य पालन) के अलावा हरियाणा भूमि सुधार निगम के अध्यक्ष श्री अजय गौड़ एवं प्रबंध निदेशक श्री जगदीप सिंह बराड़, तथा उत्तर प्रदेश भूमि सुधार निगम के प्रबंध निदेशक श्री अजय यादव भी मौजूद थे।

                इस मेले में कृषि, बागवानी, पशुपालन से जुड़ी विभिन्न संस्थाओं के लगभग 70 प्रदर्शनी स्टॉल लगाए गये जिनमें लगभग 15 स्टॉल प्रगतिशील किसानों एवं स्वयं सेवी सहायता समूहों द्वारा लगाए गए थे। किसान मेले के दौरान किसानों के लिये एक किसान गोष्ठी भी आयोजित की गई जिसमें वैज्ञानिकों और विषय-विशेषज्ञों द्वारा किसानों की कृषि संबंधित समस्याओं का समाधान बताया गया।