अनुसूचित जनजाति घटक एवं अनुसूचित जाति उपयोजना की मध्यावधि समीक्षा बैठक का हुआ आयोजन

21 अक्तूबर, 2021, जोधपुर

भाकृअनुप-कृषि प्रौद्योगिकी अनुप्रयोग अनुसंधान संस्थान, जोन-II, जोधपुर, राजस्थान ने आज अनुसूचित जनजाति घटक और अनुसूचित जाति उप योजना की मध्यावधि समीक्षा बैठक का आयोजन किया।

Mid-Term Review Meeting of Scheduled Tribe Component and Scheduled Caste Sub Plan organized

डॉ. एस. के. सिंह, निदेशक, भाकृअनुप-अटारी, जोधपुर ने जनजातीय और अनुसूचित जाति परिवारों के सामाजिक-आर्थिक उत्थान के लिए मुख्य उद्देश्यों, प्रमुख गतिविधियों, निष्पादन व निगरानी आदि में विभिन्न हितधारकों की भागीदारी पर प्रकाश डाला। डॉ. सिंह ने पारंपरिक कौशल, स्थायी आय सृजन, आजीविका सुरक्षा, पारंपरिक फसलों की उन्नत किस्मों, बागवानी, डेयरी, मुर्गी पालन और मत्स्य पालन आदि सहित रोजगार क्षमता बढ़ाने के लिए आधुनिक कौशल में सुधार पर जोर दिया।

डॉ. ईश्वर सिंह, निदेशक, विस्तार शिक्षा, कृषि विश्वविद्यालय, जोधपुर, राजस्थान ने सशक्तिकरण की मांगों के अनुसार प्रत्यक्ष लाभ कार्यक्रमों और गतिविधियों को स्थायी आधार पर निष्पादित करने पर जोर दिया।

डॉ. सुदेश कुमार, निदेशक, विस्तार शिक्षा, श्री कर्ण नरेंद्र कृषि विश्वविद्यालय, जोबनेर, राजस्थान ने जनजातीय किसानों के परिवारों को उनके सामाजिक-आर्थिक विकास के लिए सभी पहलुओं/उद्यमों में भाग लेने में सक्षम बनाने हेतु भागीदारी दृष्टिकोण का पालन करके एक अभिसरण मोड में काम करने का आग्रह किया।

बैठक में राजस्थान के कृषि विज्ञान केंद्रों के कुल 24 प्रमुखों और नोडल वैज्ञानिकों ने भाग लिया।

(स्रोत: भाकृअनुप-कृषि प्रौद्योगिकी अनुप्रयोग अनुसंधान संस्थान, जोधपुर, राजस्थान)