जनपदस्तरीय कृषि विज्ञान मेला का हुआ आयोजन

07 मार्च, 2019, कृषि विज्ञान केंद्र, बीकानेर-II (लूनकरनसर)   

जनपदस्तरीय कृषि विज्ञान मेला का हुआ आयोजनराष्ट्रीय कृषि विकास योजना के तहत वित्त पोषित जिला स्तरीय किसान मेला का आयोजन दिनांक 07 मार्च 2019 को कृषि विज्ञान केंद्र, बीकानेर-II (लूनकरनसर) में किया गया।

श्री अर्जुन राम जी मेघवाल, जल संसाधन, नदी विकास, गंगा सरक्षण तथा संसदीय कार्य राज्य मंत्री, भारत सरकार ने मुख्य अतिथि के तौर पर किसानों को संबोधित करते हुए कहा कि वर्ष 2022 तक किसानों की आय दोगुनी करने के सरकार के लक्ष्य को पूरा करने के लिए पशुधन पर भी किसान क्रेडिट कार्ड देने का निर्णय लिया गया है।

श्री सुमित गोदारा, विधायक, लूनकरनसर ने अपने संबोधन में कहा कि लूनकरनसर मूंगफली उत्पादन में अग्रणी स्थान रखता है। उन्होंने किसानों से आग्रह किया कि कृषि विज्ञान केंद्र के सहयोग से किसान तकनीकी ज्ञान लेकर अधिक-से-अधिक लाभ उठाएँ।

डॉ. एस. के. सिंह, निदेशक, अटारी, जोधपुर ने अपने संबोधन में कहा कि ग्रामीण नवयुवक, ग्रामीण बेरोजगार, कृषक व महिला कृषक कौशल विकास कार्यक्रम के तहत कृषि विज्ञान केंद्र से प्रशिक्षण लेकर अपना रोजगार शुरू कर सकते हैं।

प्रो. विष्णु शर्मा, कुलपति, स्वामी केशवानंद राजस्थान कृषि विश्वविद्यालय, बीकानेर ने अपने अध्यक्षीय संबोधन में किसानों से आग्रह किया कि फसलों के साथ-साथ पशुपालन को भी आधुनिक तकनीकी के साथ पालना चाहिए जिससे अतिरिक्त आय प्राप्त हो सके।

डॉ. एस. के. शर्मा, निदेशक, प्रसार शिक्षा निदेशालय ने अपने संबोधन में कहा कि किसानों को अपनी आमदनी बढ़ाने के लिए खेती के साथ-साथ पूरक व्यवसाय जैसे पशुपालन और बागवानी आदि पर ध्यान देना चाहिए। उन्होंने जैविक खेती का उदाहरण भी दिया।

इस अवसर पर किसानों को मृदा स्वास्थ्य कार्ड वितरित करने के साथ-साथ फसलों, बाग़वानी फसलों व मूल्य संवर्धन पर विभिन्न प्रतियोगिताएँ भी आयोजित की गईं तथा विजेता किसानों को पुरस्कार व प्रमाण पत्र दिए गए।

इस कार्यक्रम में सरकारी/गैर सरकारी संगठनों एवं निजी कंपनियों के कुल 55 प्रदर्शनी लगाए गए। इस कार्यक्रम में लगभग 2000 किसानों ने भाग लिया।

स्त्रोत: कृषि तकनीकी अनुप्रयोग अनुसंधान संस्थान, जोधपुर, राजस्थान