केवीके,भाकृअनुप-भारतीय पशु चिकित्सा अनुसंधान संस्थान,बरेली द्वारा “बकरी पालन उद्यमिता विकास” पर प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित

25 - 28 जुलाई, 2022, बरेली

कृषि विज्ञान केन्द्र, भाकृअनुप-भारतीय पशु चिकित्सा अनुसंधान संस्थान, इज्ज़तनगर बरेली द्वारा “बकरी पालन में उद्यमिता विकास” पर दिनांक 25 से 28 जुलाई, 2022 तक चार दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन किया गया।

केवीके,भाकृअनुप-भारतीय पशु चिकित्सा अनुसंधान संस्थान,बरेली द्वारा “बकरी पालन उद्यमिता विकास” पर प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित  केवीके,भाकृअनुप-भारतीय पशु चिकित्सा अनुसंधान संस्थान,बरेली द्वारा “बकरी पालन उद्यमिता विकास” पर प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित

कार्यक्रम के आरम्भ में, डॉ. बृज पाल सिंह, अध्यक्ष, कृषि विज्ञान केन्द्र ने बताया कि बकरी पालन को बहुत ही कम लागत में शुरू किया जा सकता है। इसमें शून्य लागत से अच्छा उत्पादन प्राप्त किया जा सकता है। उन्होंने युवाओं से इस प्रशिक्षण कार्यक्रम में बकरी पालन की बारीकियों को वैज्ञानिकों से सीखने तथा इसे व्यावसायिक स्तर पर अपनाकर अपनी आय सृजन का माध्यम बनाने का आह्वान किया।

केवीके,भाकृअनुप-भारतीय पशु चिकित्सा अनुसंधान संस्थान,बरेली द्वारा “बकरी पालन उद्यमिता विकास” पर प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित

चार दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम में, कृषको एवं युवा प्रतिभागियों को बकरी की विभिन्न नस्लों, आवास प्रबंधन, प्रजनन प्रबंधन, इसके लिए वर्ष भर हरा चारा उत्पादन; पोषण प्रबंधन, पोषण से जुड़ी समस्याएं एवं निदान; मुख्य, जीवाणु तथा विषाणु जनित रोगों का नियंत्रण, आंतरिक एवं बाह्य परजीवी नियंत्रण; बकरी में प्रजनन की समस्या तथा निदान, बकरी फार्म का दैनिक प्रबंधन; मांस उत्पादन, प्रसंस्करण तथा बकरी पालन के प्रोत्साहन हेतु सरकारी योजनाओ के बारे में विस्तृत जानकारी प्रदान की गई।

कार्यक्रम में, भारतीय पशु चिकित्सा अनुसंधान संस्थान के विभिन्न विभागों के वैज्ञानिकों तथा कृषि विज्ञान केन्द्र के विशेषज्ञों ने व्यवहारिक तथा तकनीकी उपलब्धियों को साझा किया। प्रतिभागियों को कृषि विज्ञान केन्द्र के प्रदर्शन फार्म में बकरी सह मत्स्य इकाई तथा भारतीय पशु चिकित्सा अनुसंधान संस्थान के संग्राहालय तथा कृषि प्रौद्योगिकी सूचना केन्द्र का अवलोकन कराया गया। यहां कृषकों के प्रोत्साहन के लिए, कृषि विज्ञान केंद्र से जुड़े कृषको की सफलता की कहानी भी चलचित्र के माध्यम से दिखाई गई।  

कार्यक्रम के समापन समारोह की अध्यक्षता, डॉ. महेश चन्द्र, संयुक्त निदेशक (प्रसार शिक्षा) ने की। इस अवसर पर अपने अध्यक्षीय संबोधन में, उन्होंने प्रतिभागियों का उत्साहवर्धन करते हुये बताया कि वर्तमान समय में बकरी पालन कैसे, महिला सशक्तिकरण, युवाओं तथा कृषकों के लिए रोजगार एवं आय सृजन का महत्वपूर्ण साधन साबित हो रहा है। उन्होंने प्रतिभागियों को, इस कार्यक्रम में, भागीदारी के लिए प्रमाण पत्र प्रदान किए। डॉ. चन्द्र ने प्रतिभागियों से नवीन तकनीकी जानकारी के लिए कृषि विज्ञान केन्द्र से जुड़े रहने की सलाह भी दी।

इस अवसर पर, अपने अनुभवों को साझा करते हुए प्रशिक्षणार्थियों ने बताया कि यह प्रशिक्षण कार्यक्रम उसके लिए काफी उपयोगी रहा।

कार्यक्रम में, प्रदेश के बरेली, पीलीभीत, उन्नाव, रामपुर और लखनऊ जनपद से आए 34 युवाओं (31 पुरुष और 3 महिला) ने अपनी प्रतिभागिता दर्ज कराई।

(स्रोतः केवीके, भाकृअनुप-भारतीय पशु चिकित्सा अनुसंधान संस्थान, इज्ज़तनगर, बरेली)