केंद्रीय कृषि और किसान कल्याण राज्य मंत्री ने केवीके, नागौर – I का किया दौरा

11 मई, 2022, नागपुर

श्री कैलाश चौधरी, केंद्रीय कृषि और किसान कल्याण राज्य मंत्री ने आग्रह किया कि, “कृषि विज्ञान केन्द्रों को प्राथमिकता के आधार पर ग्रीन हाउस और वर्षा जल इकाइयों की स्थापना के लिए प्रयास करना चाहिए"। श्री चौधरी आज यहां कृषि विज्ञान केंद्र, नागौर - I के दौरे पर थे। मंत्री ने अपनी यात्रा के दौरान बकरी, कुक्कुट, नेट हाउस, मृदा परीक्षण प्रयोगशाला और लघु खाद्य प्रसंस्करण इकाइयों आदि सहित विभिन्न प्रदर्शन इकाइयों का दौरा किया।

Union Minister of State for Agriculture & Farmers’ Welfare visits KVK, Nagaur - I  Union Minister of State for Agriculture & Farmers’ Welfare visits KVK, Nagaur - I

उन्होंने किसानों और क्लस्टर आधारित व्यापार संगठन (सीबीबीओ) के सदस्यों के साथ बातचीत करते हुए, किसान उत्पादक संगठन (एफपीओ) के गठन और प्रचार पर भी जोर दिया ताकि उत्पादन और मूल्य वर्धित उत्पादों का वास्तविक लाभ स्थायी रूप से प्राप्त किया जा सके।

श्री सी.आर.चौधरी, संसद सदस्य, नागौर और पूर्व केंद्रीय उपभोक्ता मामले, खाद्य और सार्वजनिक वितरण राज्य मंत्री ने कृषक समुदाय के लाभ के लिए भारत सरकार की विभिन्न योजनाओं, प्रधान मंत्री सिंचाई योजना, कृषि उप-मिशन मशीनीकरण और मृदा स्वास्थ्य कार्ड, आदि को विशेष रूप से रेखांकित किया।

डॉ. एस.के. सिंह, निदेशक, भाकृअनुप-कृषि प्रौद्योगिकी अनुप्रयोग अनुसंधान संस्थान, जोधपुर, राजस्थान ने शुष्क क्षेत्र में स्थित राजस्थान के कृषि विज्ञान केंद्रों की प्रगति और प्रदर्शन के बारे में जानकारी दी। उन्होंने स्थायी ग्रामीण आजीविका सुरक्षा के लिए राजस्थान के शुष्क क्षेत्र में पशुधन आधारित इकाइयों की स्थापना से भी अवगत कराया।

इस अवसर पर डीडीएम, नाबार्ड; जिला अधिकारी; नागौर- I और II, बाड़मेर- II के कृषि विज्ञान केंद्रों के स्टाफ सदस्य और 50 से अधिक किसान, कृषक महिला और ग्रामीण युवा भी उपस्थित थे।

(स्रोत: भाकृअनुप-कृषि प्रौद्योगिकी अनुप्रयोग अनुसंधान संस्थान, जोन - II, जोधपुर, राजस्थान)